भारत में पहले चरण में 3 करोड़ और दूसरे चरण में 30 करोड़ लोगों का होगा टीकाकरण: प्रधानमंत्री मोदी ने किया कोविड -19 टीकाकरण अभियान शुभारंभ

प्रधानमंत्री मोदी ने 16 जनवरी, 2021 को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कोविड -19 टीकाकरण अभियान का शुभारंभ किया. पूरे भारत में बड़े पैमाने पर कोविड -19 टीकाकरण अभियान 16 जनवरी से शुरू हुआ. यह दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान भी होगा जिसके तहत भारत सरकार की अगले कुछ महीनों में कम से कम 3 करोड़ लोगों का टीकाकरण करने की योजना है.

इस टीकाकरण अभियान का उद्देश्य स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और फ्रंटलाइन श्रमिकों का प्राथमिक आधार पर टीकाकरण करना है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्देश के अनुसार, पहले दिन प्रत्येक सत्र स्थल पर लगभग 100 लोगों को यह टीका लगाया गया.

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा टीकाकरण अभियान का शुभारंभ: मुख्य विशेषताएं

• इस अवसर पर अपने संबोधन में, प्रधानमंत्री मोदी ने सभी देशवासियों को बधाई दी और यह कहा कि, अब यह टीका उपलब्ध है. 
• प्रधानमंत्री मोदी ने यह भी बताया कि, आमतौर पर एक टीका बनाने में कई साल लग जाते हैं लेकिन इतने कम समय में, एक नहीं बल्कि दो 'मेड इन इंडिया' टीके भारत में तैयार किये गये हैं.
• इस टीकाकरण के बारे में बात करते समय, प्रधानमंत्री मोदी ने यह कहा कि, हरेक व्यक्ति के लिए कोविड -19 वैक्सीन की दो खुराक लेना बेहद महत्वपूर्ण हैं और विशेषज्ञों के अनुसार, किसी भी व्यक्ति को लगने वाले इन दोनों टीकों के बीच एक महीने का अंतर होना चाहिए.
• प्रधानमंत्री मोदी ने इस बात का भी उल्लेख किया कि, इतिहास में इतने बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान कभी नहीं चलाया गया. उन्होंने कहा कि 3 करोड़ से कम आबादी वाले 100 से अधिक देश हैं जबकि भारत केवल पहले चरण में ही 3 करोड़ लोगों का टीकाकरण करेगा. दूसरे चरण में, भारत इस संख्या को 30 करोड़ तक ले जाएगा.

मुख्य विशेषताएं

• अधिकारियों के अनुसार, 2,934 टीका केंद्रों में से कुछ सीमित साइटों को अधिकारियों द्वारा शॉर्टलिस्ट किया गया है जहां लाभार्थियों की प्रधानमंत्री मोदी के साथ बातचीत होगी.
• इन चयनित केंद्रों के अधिकारियों को दो-तरफ़ा संवादात्मक संचार सुविधा प्रदान करने के लिए आईटी अवसंरचना के लिए प्रावधान करने के लिए कहा गया है.
• इन अधिकारियों के अनुसार, नई दिल्ली के एम्स अस्पताल और सफदरजंग अस्पतालों में स्वास्थ्य केंद्र दो-तरफा संचार के लिए तैयार हैं.

पहले दिन का टीकाकरण

इस देशव्यापी कोविड -19 टीकाकरण अभियान के पहले दिन, लगभग 3 लाख स्वास्थ्य देखभाल कर्मचारियों को 2,934 साइटों पर वैक्सीन की ख़ुराक दी जायेगी और प्रत्येक टीकाकरण सत्र में अधिकतम 100 लोगों को यह टीका लगाया जाएगा.

पृष्ठभूमि

इससे पहले जनवरी 2021 में, भारत ने दो कोविड -19 टीकों - कोविशील्ड और कोवैक्सीन को आपातकालीन उपयोग प्राधिकार प्रदान किया था. बाद में, सरकार ने यह घोषणा की थी कि, यह सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान 16 जनवरी से शुरू होगा, जिसके तहत स्वास्थ्य देखभाल कर्मचारियों को प्राथमिक आधार पर यह टीका लगाया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *