म्यांमार मे सेना द्वारा तख्ता पलट चिन्ता का विषय : संयुक्त राष्ट्र (सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये अति महत्व पूर्ण करेंट अफेयर्स )

04 फरवरी, 2021 को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने म्यांमार में हुए सैन्य तख्तापलट पर अपनी चिंता व्यक्त की और सेना द्वारा हिरासत में लिए गए राष्ट्रपति विन म्यिंट, राज्य काउंसलर आंग सान सू की और अन्य नेताओं को तत्काल रिहा करने की मांग की है.

एक तख्तापलट के दौरान इस दक्षिण पूर्व एशियाई देश, म्यांमार में सेना ने अपना नियंत्रण घोषित कर दिया और शीर्ष नेताओं को हिरासत में ले लिया तो उसके तीन दिन के बाद, यूएनएससी ने एक बयान जारी करके म्यांमार के राजनेताओं को रिहा करने की मांग की है.

यह सुरक्षा परिषद एक 15 सदस्यीय परिषद है जो इस शासी निकाय का सबसे शक्तिशाली संगठन है. म्यांमार में सैन्य तख्तापलट के तीन दिन बाद, पुलिस ने 03 फरवरी को स्टेट काउंसलर आंग सान सू की पर अवैध रूप से कम से कम 10 वॉकी टॉकीज़ आयात करने का आरोप लगाया.

यूएनएससीने म्यांमार में लोकतांत्रिक परिवर्तन का आह्वान किया

यूएनएससी ने अपने आधिकारिक बयान में, देश में लोकतांत्रिक परिवर्तन के समर्थन की आवश्यकता पर जोर देने के साथ-साथ आगे भी लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं और संस्थानों को बनाए रखने, पूरी तरह से मौलिक स्वतंत्रता, मानवाधिकारों और कानून के शासन के लिए पूरा सम्मान, और हिंसा से बचने की आवश्यकता पर जोर दिया.

यूएनएससीने क्षेत्रीय संगठनों को समर्थन दिया

परिषद ने क्षेत्रीय संगठनों, विशेष रूप से, दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के संगठन - आसियान को अपना समर्थन दिया है. यूएनएससी ने म्यांमार के महासचिव के विशेष दूत को भी अपना समर्थन दोहराया है. उन्होंने म्यांमार की राजनीतिक स्वतंत्रता, संप्रभुता, एकता और क्षेत्रीय अखंडता के लिए अपनी मजबूत प्रतिबद्धता की फिर से पुष्टि की.

म्यांमार की सेना का राज्य काउंसलर आंग सान सू की पर क्या है आरोप

म्यांमार की पुलिस ने 03 फरवरी को स्टेट काउंसलर आंग सान सू की पर अवैध रूप से कम से कम 10 वॉकी-टॉकीज़ आयात करने का आरोप लगाया है.

आंग सान सू की की नेशनल लीग फॉर डेमोक्रेसी के अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की है कि, उनकी नेता पर अवैध रूप से कम से कम 10 वॉकी-टॉकी आयात करने के लिए अस्पष्ट उल्लंघन का आरोप लगाया गया है.

पृष्ठभूमि

नवंबर, 2020 में होने वाले आम चुनाव के बाद सेना और सरकार के बीच तनाव के कई दिनों के बाद 01 फरवरी, 2021 को म्यांमार में सैन्य तख्तापलट किया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *